कालेज/महाविद्यालयों/विष्वविद्यालयों स्तर पर छात्रों में बढ़ता मादक-द्रव्य-व्यसन

Author Name : डा0 मौहम्मद कामिल, जीनत जहां
Volume : II, Issue :IV,December - 2016
Published on : 2016-12-15 , By : IRJI Publication

Abstract :

सभ्यता के आरम्भ से ही मादक-द्रव्य का प्रयोग चिकित्सा, चिन्तन, भविष्य, कथन तथा आमोद-प्रमोद के लिये होता रहा है। प्राचीन यूनान में कच्चा-अफीम ;ब्तनकम व्चपनउद्ध को केक ;ब्ंामेद्ध के अन्दर भरकर स्वतंत्र रुप से सड़कों पर बेचा जाता रहा है।वर्तमान में मादक पदार्थों का सेवन विलास, वैभव और आधुनिकता का प्रतीक समझा जाता है गलत पैसा कमाने और आतंकवादी गतिविधियां फैलाने के लिये भी मादक पदार्थों का सेवन किया जाता है।