आर्यों का आदि देश

Author Name : डॉ. विनय कुमार
Volume : II, Issue :V,January - 2017
Published on : 2017-01-03 , By : IRJI Publication

Abstract :

भारतीय संस्कृति की पुरातनता को लेकर कुछ मुद्दों पर लगातार फिर-फिर कर चर्चा होती रही है। उनमें से एक मुद्दा-आर्यों का आदि देश ...। मार्क्सवादी आलोचक डॉ. रामविलास शर्मा की पुस्तक ‘पश्चिमी एशिया और ऋग्वेद का केन्द्र में रखककर यह बहस फिर से शुरू हुई कि ऋग्वेद के आधार पर एक मार्क्सवादी आलोकच तक ने यह सिद्ध कर दिया है कि आर्यों का आदि देश भारत ही था और वे यहीं से पश्चिमी एशिया और सुदूर यूरोप तक गए थे। दरअसल पुरातत्वेत्ताओं और प्राच्य-विद्याविशारदों के एक वर्ग में यह धारणा रही है कि आर्य मूलतः भारत देश के नहीं थे। वे दूसरी सहस्त्राब्दी ईसा पूर्व उत्तर पश्चिम से यहाँ आए थे।